अवैध पातन, खनन समेत उपखनिज की तस्करी करना तस्करों के लिए अब नहीं होगा आसान, विभाग को आठ और बैरियर लगाने की मिली मंजूरी।

0
24

नैनीताल/रामनगर – कॉर्बेट नेशनल पार्क से सटे तराई पश्चिम वनप्रभाग में अवैध पातन, खनन समेत उपखनिज की तस्करी करना तस्करों के लिए अब आसान नहीं होगा। तराई पश्चिम वनप्रभाग के डीएफओ ने तराई के आठ संवेदन और अतिसंवेदनशील क्षेत्रों में बैरियर लगाने की मंजूरी उच्चाधिकारियों से मांगी थी। जिसके बाद उच्चाधिकारियों ने आठों बैरियरों को लगाने की मंजूर दे दी है।

तराई पश्चिम वनप्रभाग के डीएफओ कुंदन कुमार ने बताया कि अवैध रूप से होने वाली तस्करी को रोकने के लिए उच्चाधिकारियों से आठ बैरियर लगाने की मंजूरी मांगी थी।

इसमें काशीपुर रेंज में पेगा, जेतपुर, धनौरी, केला मोड़, जबकि बैलपड़ाव रेंज में बेतखेड़ी, वहीं बन्नाखेड़ा में केसोवाला, कैनेरी और आमपोखर में 64 नंबर समेत आठ बैरियर शामिल हैं। उन्होंने बताया कि बैरियर लगाने की मंजूर उच्चाधिकारियों से मिल गयी जल्द ही बैरियर को लगाने का शुरू कर दिया जायेगा। बैरियर लगने के बाद वनअपराध और अवैध उपखनिज अविवाहन में रोक लगेगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here