तहसीलदार मेडिकल छुट्टी पर, सिर्फ एक प्रभारी तहसीलदार के भरोसे तहसील।

0
78

पौड़ी – मानूसन सीजन के बावजूद भी पौड़ी की तहसील इन दिनों सिर्फ एक प्रभारी नायब तहसीलदार के भरोसें चल रही है। दरअसल पिछले लंबी अवधि से ही यहां की तहसीलदार जहां मेडिकल छुट्टी पर हैं तो वहीं उप जिलाधिकारी को चारधाम डयूटी का जिम्मा सौंपा गया है।

वहीं मानूसन के हाई अर्लट पर कभी भी कोई बडी आपदा किसी भी वक्त अचानक दस्तक दे सकती है, ऐसे में प्रभारी नायब तहसीलदार के भरोसे चल रही। यहां की तहसील आखिर किस तरह से मानूसनी दौर से निपटेगी और राहत एंव बचाव कार्य की व्यवस्थाओं को जुटा पायेगी इसका अंदाजा भी लगाया जा सकता है।

वहीं प्रभारी नायब तहसीलदार ने बताया कि उनके पास पाबौ चाकीसैण तहसील का भी चार्ज है। वहीं खोलचौरी में बनी पटवारी चौकी का जिम्मा भी वहीं संभाल रहे हैं, जबकि अब पौड़ी तहसील का अतिरिक्त जिम्मा भी उन्हे ही दे दिया गया है। जिससे उन पर अतिरिकत कार्यभार आ गया है। ऐसे में दैविया आपदा का दौर चुनौतियों को कभी भी बढा सकता है। प्रभारी नायब तहसीलदार ने जिलाधिकारी से मांग की है कि मानसून दौर में तहसील में पूर्ण स्टाफ रखा जाए, जिससे मानूसन सीजन में निपटा जा सके।

वहीं इस मामले में जिलाधिकारी पौड़ी डॉ विजय कुमार जोगडण्डे का कहना है कि उनके द्वारा शासन को वर्षा काल के समय के लिए उप जिलाधिकारी को तैनात करने के लिए पत्र भेजा गया हैओर इस संबंध में शासन स्तर पर वार्ता चल रही है। उन्होंने बताया जैसे ही शासन स्तर से उपजिलाधिकारी जनपद में भेजे जाते है। सभी उप जिलाधिकारियों को तहसीलों में तैनात कर दिया जाएगा। आप देखना होगा कि शासन कब तक वीरान पड़ी तहसीलों में उप जिलाधिकारियों को नियुक्ति देता है। जिससे वर्षा काल के इस समय में बेहतर समन्वय स्थापित कर इसे निपटा जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here