मसूरी में दुसरे दिन भी जारी रही अवैध अतिक्रमण पर कार्रवाही।

0
26

देहरादून/मसूरी – मसूरी में दूसरे दिन भी शहर से स्थाई और अस्थाई अतिक्रमण को हटाये जाने की कार्यवाही जारी है। मसूरी में 126 से ज्यादा अतिक्रमण पहले चरण में चिन्हित किये गए है जिसको हटाने की कार्यवाही की जा रही है। मसूरी में अतिक्रमण को हटाने को लेकर एसडीएम के नेतृत्व में अभियान चलाया जा रही है जिसको लेकर प्रशासनिक टीम के अधिकारियों के साथ लोगो तीखी नोकझोंक से हुई परन्तु प्रशासन और पुलिस ने किसी की नहीं सुनी और अभियान जारी रहा।

एसडीएम नरेश दुर्गापाल ने कहा कि अतिक्रमण किसी भी हाल में बर्दाश्त नही किया जायेगा और हटाये गए अतिक्रमण पर अगर दोबारा अतिक्रमण किया जाता है तो संबधित व्यक्ति के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने कहा कि सुनिश्चित किया गया कि जिन जगहों से अतिक्रमण को हटाया गया उन स्थानों पर दोबारा अतिक्रमण न हो, इसकी जिम्मेदारी संबधित विभागों की होगी और अगर दोबारा अतिक्रमण हुआ तो संबधित विभाग के अधिकारियों पर कार्यवाही होगी।


मसूरी में सड़क किनारे हो रखे अतिक्रमण पर नगर पालिका और स्थानीय प्रशासन की कार्यवाही का लोगो ने जमकर विरोध किया। लोगों का कहना है कि पालिका और स्थानीय प्रशासन गरीब और छोटे वर्गो को निशाना बनाकर उनकी रोजी रोटी छीनने का काम कर रहा है, जबकि नगर पालिका प्रशासन द्वारा स्वयं सडको पर अतिक्रमण कर दुकानों का निर्माण कराया गया है। मसूरी झूला घर पर एमडीडीए के सभी नियमों को ताक पर रखकर दून व्यू साइट पर 14 दुकानों का निर्माण किया गया है, ऐसे में एसडीएम मसूरी पालिका पर कार्यवाही क्यो नही कर रहे है। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण किसी ने भी किया हो उसपर कार्यवाही होनी चाहिये। किसी भी हाल में भेदभाव बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

मसूरी नगर पालिका परिषद के ओएस महावीर सिंह राणा ने कहा कि मसूरी में अतिक्रमण को किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर अतिक्रमण दोबारा किया गया तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी। उन्होने बताया कि कल अतिक्रमण अभियान के तहत दो दुकानों को सीज किया गया था, जिसमें से एक दुकान का किसी शरारती तत्वों द्वारा सील को खोल दी गई थी जिस पर दोबारा प्रशासन द्वारा सील लगा दी गई है। ऐसे में कोई भी व्यक्ति सरकारी कार्य में बाधा डालने की कोशिश करेगा तो उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही की जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here